पौड़ी : जिलाधिकारी गढ़वाल डॉ. विजय कुमार जोगदण्डे ने आज अपने कैम्प कार्यालय पौड़ी में रेखीय विभाग के अधिकारियों के साथ गर्मियों में पेयजल की समस्या के समाधान एवं पेयजल आपूर्ति को लेकर समीक्षा बैठक करते हुए आवश्यक दिशा निर्देश दिए। उन्होंने ग्रीष्म ऋतु को दृष्टिगत रखते हुए अतिरिक्त जल स्टोर रखने के निर्देश दिए, ताकि पानी की आपूर्ति निरन्तर रूप से चलती रहे। साथ ही उन्होंने कहा कि ग्रीष्म ऋतु के दौरान जनपद के 19 गांव में जहां पर पेयजल की समस्या होने की संभावना बनी रहती है, उन गांव के लिए अभी से सक्रिय होकर कार्य करना सुनिश्चित करेंगे।


जिलाधिकारी ने बैठक लेते हुए संबंधित अधिकारियों को कड़ी हिदायत देते हुए कहा कि जनपद में पेयजल आपूर्ति हेतु शिकायत ना आए इस बात को गंभीरता से लेना सुनिश्चित करें। उन्होंने क्रमवार पेयजल आपूर्ति विभागों की समीक्षा करते हुए अभी से टेंडर प्रक्रिया आदि समुचित कार्य पूर्ण करने के निर्देश दिए। संबंधित अधिकारियों द्वारा अवगत कराया गया कि उक्त गांव में पेयजल समस्या की संभावना को दृष्टिगत रखते हुए टेंडर प्रक्रिया पूर्ण कर ली गई है।

बताया कि जनपद में करीब 157 बस्तियों में पेयजल की समस्या की संभावना को ध्यान में रखते हुए 157 गांवों को चिन्हित कर प्लानिंग एवं टेंडर प्रक्रिया पूर्ण कर ली गई है। बताया कि इन बस्तियों में 35 टैंकर तथा 4 बस्तियों में घोड़े खच्चर के माध्यम से पेयजल आपूर्ति की प्लानिंग की गई है। जबकि पेयजल से संबंधित समस्याओं के शिकायत निवारण हेतु जल संस्थान पौड़ी एवं जल संस्थान कोटद्वार में कन्ट्रांेल रूम स्थापित करने के निर्देश दिये गये।

इससे पूर्व जिलाधिकारी ने रेखीय विभागीय अधिकारियों के साथ जल जीवन मिशन की कार्य प्रगति की बैठक लेते हुए कार्यों में तेजी लाने के निर्देश भी दिए। बैठक में इस अवसर पर पीएम स्वजल दीपक रावत, अधीक्षण अभियंता जल संस्थान प्रवीण सैनी, जल निगम पीसी गौतम, जल निगम नरेंद्र नवानी, जल संस्थान पौड़ी एस. के. राय सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here