देहरादून: कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए प्रदेश में लागू कोविड कर्फ्यू की अवधि कुछ रियायत के साथ 15 जून सुबह छह बजे तक बढ़ा दी गई है। पिछले हफ्ते की भांति परचून और स्टेशनरी व पुस्तकों की दुकानें इस सप्ताह भी दो दिन खुलेंगी, जबकि खाद्य पैकजिंग, रेडीमेड कपड़े, दर्जी, चश्मे, साइकिल स्टोर, औद्योगिक मशीनरी, मोटर पार्ट्स, ड्राइक्लीनर्स, फोटोकापी, टिंबर मर्चेंट की दुकानें एक दिन और शराब की दुकानें तीन दिन खोलने का निर्णय लिया गया है। इन सभी दुकानों के लिए निर्धारित तिथियों पर खुलने का समय सुबह आठ से दोपहर एक बजे रखा गया है।

आवश्यक वस्तुओं की दुकानें खुलने का समय भी अब सुबह आठ से 12 बजे कर दिया गया है। पहले यह दुकानें सुबह आठ से 11 बजे तक खुल रही थीं। सरकार ने ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना संक्रमण की स्थिति का आकलन कर आवश्यकतानुसार कर्फ्यू में शिथिलता देने के लिए जिलाधिकारियों को अधिकृत किया है। अंतर राज्यीय सार्वजनिक परिवहन में दो तिहाई क्षमता के साथ वाहन संचालन की अनुमति होगी। सरकार के इस फैसले के बाद देर शाम को शासन से कर्फ्यू के संबंध में मानक प्रचालन कार्यविधि (एसओपी) भी जारी कर दी।

प्रतिदिन: फल, सब्जी, डेयरी, दूध, बेकरी मैन्युफैक्चरिंग, मांस-मछली और सरकारी सस्ते गल्ले की दुकानें।

9 व 14 जून: परचून की दुकानें, स्टेशनरी व पुस्तकों की दुकानें।

11 जून: खाद्य पैकेजिंग, कपड़ा, रेडीमेड (एकल रूप में), दर्जी, चश्मे, साइकिल स्टोर, औद्योगिक मशीनरी, मोटर पार्ट्स व ड्राई क्लीनर्स की दुकानें।

9 जून: फोटोकापी व टिंबर मर्चेंट की दुकानें।

9, 11 व 14 जून: शराब की दुकानें।(एसओपी के अनुसार रोजाना खुलने वाली दुकानों का समय सुबह 8 से दोपहर 12 बजे रहेगा, जबकि तिथिवार खुलने वाली दुकानों के लिए समय सुबह 8 से दोपहर 1 बजे तक निर्धारित किया गया है। एसओपी के शेष प्रविधान वही रखे गए हैं, जो 31 मई को जारी एसओपी में थे।)

सरकार के प्रवक्ता एवं कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल ने मुख्य सचिव ओमप्रकाश, सचिव आपदा प्रबंधन एसए मुरुगेशन, सचिव स्वास्थ्य अमित नेगी समेत अन्य अधिकारियों के साथ स्थिति की समीक्षा की। कैबिनेट मंत्री उनियाल ने कर्फ्यू के संबंध में नेता प्रतिपक्ष डा. इंदिरा हृदयेश और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह से भी विमर्श किया। इसके बाद सरकार ने कोविड कर्फ्यू को कुछ रियायतों के साथ 15 जून तक बढ़ाने का निर्णय लिया। सरकार के प्रवक्ता उनियाल के अनुसार सभी परिस्थितियों का आकलन करने के बाद कर्फ्यू में कुछ रियायत दी गई हैं। उन्होंने कहा कि जिलाधिकारियों से कहा गया है कि वे ग्रामीण क्षेत्रों की स्थिति का आकलन कर वहां कर्फ्यू में छूट अथवा रियायत देने के संबंध में निर्णय लें। जिलाधकारी इस संबंध में अपने-अपने जिलों के ग्रामीण क्षेत्रों के संबंध में आदेश जारी करेंगे। उन्होंने बताया कि 14 जून को स्थिति की समीक्षा के बाद आगे निर्णय लिया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here